शुभा शुक्ला निशा के फायकू

मां है सदा
तुम्हारे लिए

देव प्रतिनिधि रूप मां
धरती पर आई
तुम्हारे लिए

वो सपने हजार लेके
जीवन में आती
तुम्हारे लिए

अपने सारे सुख दुख
भुला देती है
तुम्हारे लिए

स्वयं को वो सदा
पीछे रखती है
तुम्हारे लिए

जागती रहती है सदा
अपनी नींद भूला
तुम्हारे लिए

नटखट प्यारी अटखेलियो पे
होती हरदम निसार
तुम्हारे लिए

घायल हो जाते हो
खुद घायल होती
तुम्हारे लिए

स्वस्थ और दीर्घायु जीवन
उसकी पहली कामना
तुम्हारे लिए

दुनिया से भिड़ जाती
पति से लड़ती
तुम्हारे लिए

कभी कभी गलत भी
वो कर जाती
तुम्हारे लिए

उसे कोई भेद नहीं
बेटी या बेटा
तुम्हारे लिए

उसके जीवन की प्राथमिकता
सिर्फ तुम ही
तुम्हारे लिए

वक्त पड़े तो देगी
जान भी अपनी
तुम्हारे लिए

 

मान देना सदा उसे
तकलीफ सही उसने
तुम्हारे लिए

शुभा शुक्ला निशा रायपुर छत्तीसगढ़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

फायकू

मतदान है अनिवार्य-सत्येन्द्र शर्मा ‘तरंग’,

  लोकतन्त्र का यही नारा, मतदान करे उजियारा, तुम्हारे लिए। हे! भारत के मतदाता, मतदान लोकतंत्र लाता, तुम्हारे लिए। मतदान करें नर-नार लोकतन्त्र की जयकार, तुम्हारे लिए। आयु हुई अट्ठारह वर्ष, मतदान का हर्ष, तुम्हारे लिए। छोड़कर अपने सब कार्य, मतदान है अनिवार्य, तुम्हारे लिए। भारत का पावन लोकतंत्र, विकास का मन्त्र, तुम्हारे लिए। हर […]

Read More
फायकू

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस फायकू-मधु माहेश्वरी

  1 अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का सुंदर आयोजन है तुम्हारे लिए। 2 अनगिन रूप तिहारे नारी तुझसे ही परिवार तुम्हारे लिए। 3 मातृशक्ति है गौरव तेरा नमन है बारंबार तुम्हारे लिए। 4 निज का तुम सम्मान करो पहचानो ख़ुद को तुम्हारे लिए। 5 दसियों रूप तुम्हारे भीतर अपनी सखी बनो तुम्हारे लिए। 6 ईश्वर  की […]

Read More
फायकू

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस फायकू-विनोद शर्मा

  1 . ले आयी इक्कीसवी सदी नारी शक्ति सम्मान तुम्हारे लिए। 2. आत्मविश्वास की जगी लहर सदियों के बाद तुम्हारे लिए। 3. धरती नापी अंम्बर नापा नाप सब संसार तुम्हारे लिए। 4 . आज स्वयं सिद्धा बनी रही नहीं मोहताज तुम्हारे लिए। 5 . नये नये आयाम चुने खड़े कीर्तिमान किये तुम्हारे लिए। विनोद […]

Read More