महिला दिवस पर फायकू-पवन कुमार सूरज

(१)
प्रतिवर्ष महिला दिवस आता,
नारी महत्व बतलाता,
तुम्हारे लिए।
(२)
उसको उसके अधिकार दिलाना,
सुखकर इसका तराना,
तुम्हारे लिए।
(३)
नारी जगत- भाग्य विधाता,
यही बोध कराता,
तुम्हारे लिए।
(४)
मिटाओ उससे राग-द्वेष,
करता निरत उपदेश,
तुम्हारे लिए।
(५)
देना उसको उसका संसार,
तभी जीना-अधिकार,
तुम्हारे लिए।
(६)
मत करना उसका अपमान,
यही नारी- सम्मान,
तुम्हारे लिए।
(७)
नहीं हो एकदिवसीय झाँकी,
कदर रोजाना-बाकी,
तुम्हारे लिए।
(८)
महिला दिवस महत्व-सजे,
नारी-उत्थान बचे,
तुम्हारे लिए।
(९)
नित्य नारी-सम्मान बस,
प्रतिदिन महिला दिवस,
तुम्हारे लिए।
(१०)
दो उसे निरामय परिवेश,
देता ‘सूरज’ संदेश,
तुम्हारे लिए।

पवन कुमार सूरज
देहरादून

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

फायकू

मतदान है अनिवार्य-सत्येन्द्र शर्मा ‘तरंग’,

  लोकतन्त्र का यही नारा, मतदान करे उजियारा, तुम्हारे लिए। हे! भारत के मतदाता, मतदान लोकतंत्र लाता, तुम्हारे लिए। मतदान करें नर-नार लोकतन्त्र की जयकार, तुम्हारे लिए। आयु हुई अट्ठारह वर्ष, मतदान का हर्ष, तुम्हारे लिए। छोड़कर अपने सब कार्य, मतदान है अनिवार्य, तुम्हारे लिए। भारत का पावन लोकतंत्र, विकास का मन्त्र, तुम्हारे लिए। हर […]

Read More
फायकू

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस फायकू-मधु माहेश्वरी

  1 अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का सुंदर आयोजन है तुम्हारे लिए। 2 अनगिन रूप तिहारे नारी तुझसे ही परिवार तुम्हारे लिए। 3 मातृशक्ति है गौरव तेरा नमन है बारंबार तुम्हारे लिए। 4 निज का तुम सम्मान करो पहचानो ख़ुद को तुम्हारे लिए। 5 दसियों रूप तुम्हारे भीतर अपनी सखी बनो तुम्हारे लिए। 6 ईश्वर  की […]

Read More
फायकू

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस फायकू-विनोद शर्मा

  1 . ले आयी इक्कीसवी सदी नारी शक्ति सम्मान तुम्हारे लिए। 2. आत्मविश्वास की जगी लहर सदियों के बाद तुम्हारे लिए। 3. धरती नापी अंम्बर नापा नाप सब संसार तुम्हारे लिए। 4 . आज स्वयं सिद्धा बनी रही नहीं मोहताज तुम्हारे लिए। 5 . नये नये आयाम चुने खड़े कीर्तिमान किये तुम्हारे लिए। विनोद […]

Read More